Browsing Category

Social Buzz

सुन लीजिये मोदी जी कुछ कह रहे हैं वरिष्ठ पत्रकार नीलांशु रंजन।

जीत तो जीत होती है, इसमें कोई दो राय नहीं। लेकिन ये भाजपा जो अपनी पीठ थपथपाने में मसरूफ़ है,  क्या वो ये बताएगी कि वह पिछले आंकड़े…

आज की मीडिया को आईना दिखाती युवा पत्रकार मृत्युंजय की कलम

सोचिये जब पहली बार किसी पत्रकार की कलम उठी होगी तो उसके जेहन में भविष्य की कौन सी तस्वीर उभरी होगी ? शायद कलम के जरिये व्यवस्था को…

घोटाले की कालिख पर मौत का पर्दा, पढ़ें वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र चौधरी का…

NEW DELHI: घोटाले उजागर होते ही घोटालों से जुड़े लोगों की मौत होनी शुरू हो जाती है; चारा घोटाला,व्यापम घोटाला और अब सृजन…