CBI New Director: सुबोध कुमार जायसवाल बने CBI के नए चीफ

0 488

सुबोध कुमार जायसवाल (Subodh Kumar Jaiswal) को CBI का नया निदेशक चुन लिया गया है। इससे पहले देश सीबीआई का नया बॉस चुनने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता में चयन समिति की सोमवार को बैठक हुई। इस बैठक में सीबीआई डायरेक्टर के लिए 3 नामों पर विचार किया गया। इनमें सुबोध जायसवाल (Subodh Kumar Jaiswal) , के आर चंद्रा और वीकेएस कौमुदी के नाम शामिल रहे।

आखिरकार 1985 बैच आईपीएस ऑफिसर सुबोध जायसवाल को सीबीआई का नया डायरेक्टर (CBI New Director Subodh Kumar Jaiswal) बनाया गया है। इनका कार्यकाल दो साल का होगा। जायसवाल सीआइएसएफ के महानिदेशक और महाराष्ट्र एटीएस के चीफ भी रह चुके हैं। यह जानकारी कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) ने दी है।

जासूसों के मास्टर माने जाते हैं जायसवाल
सीनियर IPS ऑफिसर सुबोध जायसवाल बेदाग छवि के अफसर माने जाते हैं। पुलिस सेवा में बेहतरीन काम के लिए उन्हें 2009 में प्रेसिडेंट पुलिस मेडल से भी नवाजा जा चुका है। जायसवाल को जासूसों का मास्टर भी कहा जाता है। उन्होंने रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) में भी अपनी सेवाएं दी हैं। वह कैबिनेट सचिवालय में अतिरिक्त सचिव भी रह चुके हैं। जायसवाल ने कई बड़े मामलों की जांच लीड की है।

मुंबई पुलिस में रहते हुए वह करोड़ों रुपए के जाली स्टंप पेपर घोटाले की जांच करने वाली स्पेशल टीम के चीफ थे। साल 2006 में हुए मालेगांव विस्फोट की जांच भी सुबोध कुमार जायसवाल ने ही की थी। वह प्रधानमंत्री, पूर्व PM और उनके परिवारों की सुरक्षा करने वाले स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) के इंटेलिजेंस ब्यूरो में भी काम कर चुके हैं।

सुबोध कुमार जायसवाल (Subodh Kumar Jaiswal) की प्रारंभिक शिक्षा-दीक्षा धनबाद में हुई

सीबीआई के मुखिया बने आईपीएस सुबोध कुमार जायसवाल की प्रारंभिक शिक्षा-दीक्षा धनबाद में ही हुई है। 1978 में उन्होंने डिनोबली डिगवाडीह से बोर्ड की परीक्षा पास की थी। उन दिनों वे अपने परिवार वालों के साथ सिंदरी रोड पाथरडीह में रहते थे। 1962 में उनका जन्म धनबाद जिले में ही हुआ था।

23 वर्ष की आयु में  किया यूपीएससी क्रैक

1985 बैच के आईपीएस सुबोध जायसवाल ने महज 23 वर्ष की आयु में यूपीएससी क्रैक कर लिया था। उन्हें जानने वालों ने बताया कि वे बचपन से ही सेना में अफसर बनना चाहते थे। उन्होंने 12वीं के बाद तीन बार नेशनल डिफेंस एकेडमी (एनडीए) की भी परीक्षा दी, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली।

 सुबोध कुमार जायसवाल के CBI चीफ बनने से झारखंड हुआ गौरवांवित 

कला संकाय से ग्रेजुएशन करने के बाद उन्होंने एमबीए किया और पहले ही प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा क्रैक कर ली। तेजतर्रार और बेदाग छवि वाले सुबोध रॉ और एसपीजी जैसी सुरक्षा एजेंसियों में महत्वपूर्ण पदों आसीन रहे हैं। सुबोध को सीबीआई प्रमुख की जिम्मेवारी मिलने से धनबाद ही नहीं पूरा झारखंड गौरवांवित हुआ है।

Loading...

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time
Leave A Reply