बदज़ुबान नेताओं की लिस्ट लम्बी है, मोदी से लेकर आज़म खान की कब फिसली जुबान जानिये

0 5,255

भारतीय राजनीति में नेताओं ने कई बार भाषा के निम्नतम स्तर को क्रास किया है। देश की छोटी से बड़ी पार्टियों के नेताओं ने कई बार सार्वजनिक मंच से बदजुबानी की है। राजनेताओं के बीच संवाद का गिरता स्तर लोकतंत्र पर एक बड़ी चोट है।

आइये जानते हैं कब- कब नेताओं ने सामान्य शिष्टाचार को ताक पर रखकर महिलाओं के लिए बेहूदा बोल बोलें हैं।

चुनावी माहौल में बदज़ुबानी
  • समाजवादी पार्टी नेता आज़म खान : “रामपुर वालों, उत्तर प्रदेश वालों, हिंदुस्तान वालों! उसकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लग गए। मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनके नीचे का जो अंडरवियर है वह भी खाकी रंग का है.
  • भाजपा नेता – सतपाल सिहं सत्ती : अगर “चौकीदार चोर है तो राहुल गांधी “मादर ।।। है”
  • भाजपा नेता – महेश शर्मा : “अब तो पप्पू की पप्पी (प्रियंका गांधी) भी मैदान में आ गई हैं”
  • सपा नेता गुड्डू पंडित : बसपा उम्मीदवार गुड्डू पंडित ने राज बब्बर को ‘कु#$@’ कहा है और उन्हों दौड़ा-दौड़ाकर जूतों से मारने की धमकी दी ।
प्रधान मंत्री मोदी की जुबान भी कुछ मौको पर बदतमीज़ हुयी है
  • सोनिया ‘जर्सी गाय’ और राहुल ‘हाईब्रिड बछड़ा’
  • एक चुनावी सभा में पीएम मोदी ने सुनंदा पुष्कर पर टिप्पणी करते हुए कहा: ”वाह क्या गर्लफ़्रेंड है, कभी देखी है 50 करोड़ की गर्लफ़्रेंड?” (शशि थरूर का पलटवार।।। “मोदी जी मेरी पत्नी 50 करोड़ की नहीं बल्कि अनमोल है, लेकिन आप को यह समझ में नहीं आएगा क्योंकि आप किसी के प्यार के लायक नहीं हैं)
  • संसद में पीएम मोदी के भाषण पर कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी हंसने लगीं। जिसपर मोदी ने कहा: “सभापति जी रेणुका जी को आप कुछ मत कहिए रामायण सीरियल के बाद ऐसी हंसी सुनने का आज सौभाग्य मिला है।” (शूर्पणखा)
भाजपा के कई नेताओं ने भाषा की मर्यादा तोड़ी है
  • भाजपा नेता – दयाशंकर सिंह : “मायावती जी एक वेश्या से भी ‘बदतर चरित्र’ की हो गई हैं”
  • भाजपा नेता -सुब्रमण्यन स्वामी : “प्रियंका गांधी बनारस से चुनाव हार जाएंगी, क्योंकि बहुत शराब पीती हैं”
  • भाजपा नेता – कैलाश विजयवर्गीय : महिलाओं का श्रृंगार लोगों में उत्तेजना पैदा कर देता है
  • भाजपा नेता – नरेश अग्रवाल : ‘फ़िल्मों में नाचने वाली’- भाजपा नेता नरेश अग्रवाल ने अभिनेत्री और सासंद जया बच्चन के लिए यही शब्द इस्तेमाल किए थे।
  • भाजपा नेता – किरन रिजीजू : फ़ेसबुक पर एक वीडियो शेयर कर रेणुका चौधरी की हंसी को शूर्पणखा की हंसी लिखा।।
  • भाजपा नेता – अमित मालविया : भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने रामायण में शूर्पणखा की नाक काटे जाने का दृश्य भी ट्विटर पर शेयर किया।
  • भाजपा नेता – साक्षी महाराज : हिंदू महिलाओं को अपने धर्म की रक्षा करने के लिए ‘कम से कम चार बच्चे पैदा करने चाहिए।’
कोंग्रेसियों ने भी कई मौकों पर जुबान पर संयम खोया है
  • कांग्रेस नेता – दिग्विजय सिंह : मीनाक्षी नटराजन की तारीफ़ करते हुए कहा, ” मैं राजनीति का पुराना जौहरी हूँ। मीनाक्षी जी का काम देख कर मैं यह कह सकता हूँ कि वह 100 टका टंच माल हैं।”
  • कांग्रेस नेता – श्रीप्रकाश जायसवाल : “नई नई जीत और नई नई शादी, इसका अपना अलग महत्व होता है। जैसे जैसे समय बीतेगा, जीत की यादें पुरानी होती जाएंगी। जैसे जैसे समय बीतता है पत्नी पुरानी होती जाती है, वो मज़ा नहीं रहता है।”
  • कांग्रेस नेता – संजय निरूपम : स्मृति ईरानी को कहा, “कल तक आप पैसे के लिए ठुमके लगा रही थीं और आज आप राजनीति सिखा रही हैं।”
  • कांग्रेस नेता – अभिजीत मुखर्जी : “दिल्ली में 23-वर्षीय युवती के साथ बलात्कार के विरोध में प्रदर्शनों में हिस्सा ले रही छात्राओं पर कहा।। ”हाथ में मोमबत्ती जला कर सड़कों पर आना फ़ैशन बन गया है। ये सजी संवरी महिलाएं पहले डिस्कोथेक में गईं और फिर इस गैंगरेप के ख़िलाफ़ विरोध दिखाने इंडिया गेट पर पहुंची।”
मुलायम के इस बयान से मच गयी थी सनसनी

समाजवादी पार्टी – मुलायम सिंह यादव।। “बलात्कार के लिए फांसी की सजा अनुचित, लड़कों से गलती हो जाती है”

शरद यादव के बदज़ुबानी के किस्से मशहूर है
  • पूर्व जदयू नेता – शरद यादव : “वसुंधरा बहुत मोटी हो गईं हैं, पहले पतली थीं।।।
  • “वोट की इज़्ज़त आपकी बेटी की इज़्ज़त से ज़्यादा बड़ी होती है। अगर बेटी की इज़्ज़त गई तो सिर्फ़ गांव और मोहल्ले की इज़्ज़त जाएगी लेकिन अगर वोट एक बार बिक गया तो देश और सूबे की इज़्ज़त चली जाएगी।’
  • 1997 में संसद में महिला आरक्षण बिल पर बहस में कहा था, “इस बिल से सिर्फ़ पर-कटी औरतों को फ़ायदा पहुंचेगा। परकटी शहरी महिलाएँ हमारी (ग्रामीण महिलाओं) का प्रतिनिधित्व कैसे करेंगी।”
महिला होने के बावजूद ममता बनर्जी ने बदज़ुबानी की

तृणमूल कांग्रेस – ममता बनर्जी।।

  • “पहले लड़के-लड़कियाँ अगर एक दूसरे के हाथों में हाथ लेते थे तो उनके माता पिता उन्हें पकड़ लेते थे और डाँटते थे पर अब सब कुछ खुला है, खुले बाज़ार में खुले विकल्पों की तरह।”

कम्युनिस्ट पार्टी – अनिसुर्रहमान

2012 में एक सभा में कहा : रेप प्रताड़ित महिलाओं को न्याय नहीं मिलेगा क्योंकि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बलात्कार की कीमत तय की हुई है… ”हम ममता दी से पूछना चाहते हैं उन्हें कितना मुआवजा चाहिए। बलात्कार के लिए कितना पैसा लेंगी?

जयाप्रदा पर आजम खान का आपत्तिजनक बयान वाला वीडियो देखें….

Loading...

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

Leave A Reply