BJP के दिग्गज नेता अरुण जेटली का 66 साल की उम्र में निधन, दिल्ली के AIIMS में ली अंतिम सांस   

0 1,310

New Delhi : दक्षिणपंथी सियासत के सूरमा वरिष्ठ भाजपा नेता व पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) का शनिवार 24 अगस्त को निधन हो गया। जेटली लम्बे समय से बीमार चल रहे थे। जेटली ने दोपहर 12 बजकर 7 मिनट पर अंतिम सांस ली। सांस लेने में तकलीफ के बाद उन्हें 9 अगस्त दोपहर सवा 12 बजे एम्स में भर्ती कराया गया था। जेटली के फेफड़ों में पानी जमा हो रहा था, जिसकी वजह से उन्हें सांस लेने में दिक्कत आ रही था। यही वजह है कि डॉक्टरों ने उन्हें वेंटिलेटर पर रखा था। उन्हें सॉफ्ट टिशू सरकोमा था, जो एक प्रकार का कैंसर होता है। आपको बता दें कि वर्ष 2018 में जेटली के किडनी का ट्रांसप्लांट हुआ था।

अरुण जेटली  के निधन का समाचार पाकर देश भर में शोक की लहर दौड़ गई है। वहीँ जेटली के निधन की खबर सुनने के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने अपने हैदराबाद दौरे को खत्म कर दिया है। वह हैदराबाद से दिल्ली के लिए निकल चुके हैं।

 भाजपा के कद्दावर नेताओं में शुमार जेटली की गिनती भारतीय राजनीति के चुनिंदा राजनेताओं में की जाती थी। 2019 का साल भाजपा  के लिए बेहद बुरा रहा है। पहले सुषमा स्वराज और अब अरुण जेटली का जाना भाजपा के लिए अपूरणीय क्षति है। अटल-आडवाणी के पीढ़ी के नेताओं के इस तरह दुनिया से रुखसत हो जाने के कारण दक्षिणपंथी विचारधारा की राजनीति  करने वालो राजनीतिक अभिभावक कि कमी खलेगी।

Arun jaitley Political Journey

गौरतलब है कि अरुण जेटली बीजेपी सरकार के पहले कार्यकाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल का अहम चेहरा थे। इस दौरान जेटली ने वित्त एवं रक्षा दोनों मंत्रालयों का कार्यभार संभाला था। जेटली का जन्म 28 दिसंबर 1952 को हुआ था।

अरुण जेटली के निधन पर सियासत, सिनेमा सहित सामाजिक क्षेत्र के कई हस्तियों ने ट्विटर पर श्रद्धांजलि दी है।

Loading...

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

Leave A Reply