Indian Railway : नहीं चलायी जाएँगी नयी ट्रेने, रेल डिवीज़नों के बढ़ेंगे अधिकार

0 510

रेल मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि फ़िलहाल कोई नई ट्रेन नहीं चलाई जायेगी। साथ ही डिविजनों को पहले से ज्यादा अधिकार दिए जायेंगे और उन्हें आत्मनिर्भर भी बनाया जाएगा। इसके तहत प्रत्येक डिवीज़न में एक प्रोजेक्ट सेल की स्थापना की जायेगी। साथ ही मंडल प्रबंधकों को हर छोटे से निर्णय के लिए जोनल महाप्रबंधकों से मशवरा लेने के लिए उनके पास जाने की आवश्यकता नहीं होगी। रेल मंत्रालय ने ये फैसला ट्रेन की लेटलतीफी ख़त्म करने के लिए लिया है।

रेलवे बोर्ड ने इस सिलसिले में कुछ दिन पहले सभी जोनल महाप्रबंधकों को पत्र लिखा था। रेल मंत्री पियूष गोयल ने शनिवार को उत्तर रेलवे, उत्तर-मध्य रेलवे, उत्तर-पूर्व रेलवे तथा पूर्व-मध्य रेलवे के महाप्रबंधकों के हुई मीटिंग में पत्र में लिखी बातों को तत्काल में अमल में लाने के निर्देश दिए। हालांकि ये बैठक इलाहावाद में 2019 के दौरान होने वाले महाकुम्भ की तैयारियों का जायजा लेने के उद्देश्य से बुलाई गई थी।

पियूष गोयल ने डिवीज़न को इसलिए मजबूत किया है कि जोन और डिवीज़न के बीच लालफीताशाही की वजह से समन्वय स्थापित नहीं हो पाता है जोकि काफी आवश्यक है। इसी वजह से मंत्रालय ने हर डिवीजन में एक प्रोजेक्ट सेल के गठन का आदेश जारी किया है।

परियोजना प्रकोष्ठ अथवा प्रोजेक्ट सेल के गठन के निर्देश दिए गए हैं। एडीआरएम (additional divisional railway manager) इसके प्रमुख होंगे वहीं डीएसटीई, सीनियर डीईई, डीओएम अथवा सीनियर डीएफएम/डीएफएम अथवा जेएजी ग्रेड के अफसर होंगे। प्रोजेक्ट सेल के लिए कर्मचारियों का चुनाव जोन से भी किया जायेगा।

Loading...

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time
Leave A Reply