सुन लीजिये मोदी जी कुछ कह रहे हैं वरिष्ठ पत्रकार नीलांशु रंजन।

0 229

जीत तो जीत होती है, इसमें कोई दो राय नहीं। लेकिन ये भाजपा जो अपनी पीठ थपथपाने में मसरूफ़ है,  क्या वो ये बताएगी कि वह पिछले आंकड़े 115 तक क्यों नहीं पहुँच पाई?  कहाँ भाजपा ने 150 सीटों पर जीत दर्ज़ करने का लक्ष्य रखा था, लेकिन वो पिछले आंकड़े को भी छूने में विफल रही है। यह वही भाजपा है जिसने विकास का ढोल तो ख़ूब पीटा था, लेकिन जैसे-जैसे चुनाव नज़दीक आता गया, भाजपा विकास के मुद्दे को हाशिये पर धकेल कर व्यक्तिगत स्तर पर उतर आई और वो भी बहुत ही निम्न स्तर पर जो जम्हूरियत में शोभा नहीं देता। किसी के दादा, नाना तक पहुंच जाना कि फलां मंदिर आपके नाना-परनाना ने बनवाया? बहुत ही ओछी बात थी। ग़लत तरीक़े से पाकिस्तान के दख़लअंदाज़ी की बात कर लोगों को भरमाना। विकास की जगह यह मोदी जी का मैं और मैं सुनाई दिया।

दूसरी बात, पिछले आंकड़े से भी नीचे खिसक आने का एक और संदेश गया है कि मोदी जी के नोटबंदी और जीएसटी को लोगों ने हाथों हाथ नहीं लिया। गर लिया होता तो शायद 150 का आंकड़ा छूने में ये सफल होते। मोदी जी और अमित शाह जी के गुजरात में पूरी ताक़त व मशीनरी झोंक देने के बावजूद भी 115 पर भाजपा नहीं पहुँच पाई, जबकि कट्टर हिन्दुत्व के पोस्टर ब्वॉय आदित्यनाथ को स्टार प्रचारक के रूप में उतारा गया और कई मुख्यमंत्रियों और केन्द्रीय मंत्रियों को झोंक दिया गया। प्रधानमंत्री तो ख़ैर महीने में कई-कई सभाएं कर रहे थे। बात गुजरात के ग्रामीण क्षेत्रों की करें तो वहाँ मोदी का जादू और बीजीपी के तमाम पैंतरे फेल हीं साबित हुए हैं।

रही बात हिमांचल की तो हिमाचल की बात मैं इसलिए नहीं कर रहा हूं कि वहाँ ट्रेन्ड रहा है हर पांच साल पर सरकार बदलने का। लेकिन गुजरात को देखकर यही कहा जा सकता है कि इसका प्रभाव 2019 के चुनाव पर भी पड़ेगा इसलिए दीवार पर लिखी इबारत को भाजपा पढ़ ले। वैसे गुजरात जीत को लेकर भाजपा जो भी बोले। मैं तो बस यही कहूँगा–

” हमको भी मालूम है जन्नत की हक़ीक़त लेकिन

दिल के बहलाने को ग़ालिब ये ख़्याल अच्छा है।

” बस भाजपा यही बता दे कि 150 के लक्ष्य को पूरा करने में कहाँ कमी रही।

नीलांशु रंजन जाने माने वरिष्ठ पत्रकार है। लेखन कला के धनी नीलांशु पत्रकारिता के साथ-साथ साहित्य के क्षेत्र में भी एक अलग पहचान रखते हैं।
Loading...

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

Leave A Reply