Swachh Survekshan 2019 : MP का इंदौर सबसे स्वच्छ शहर, Bihar का एक भी शहर टॉप 50 में नहीं, UP का गोड्डा आखिरी पायदान पर

0 66

2019 का स्वच्छता सर्वेक्षण का रिपोर्ट जारी कर दिया गया है। इस वर्ष सफाई के मामले में देश के कई शहरों में बड़ा उलटफेर हुआ है। इस बार मध्य प्रदेश का इंदौर पहले नंबर पर आया है। 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में अहमदाबाद और पांच लाख से कम आबादी वाले शहरों में उज्जैन पहले स्थान पर रहे दिल्ली का एनडीएमसी भी सफाई के मामले में पिछले साल के चौथे नंबर से फिसलकर सातवें नंबर पर पहुंच गया है। इस बार कुल 434 शहरों ने स्वच्छता सर्वेक्षण में हिस्सा लिया था। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को  एक कार्यक्रम में ‘द स्वच्छ सर्वेक्षण अवार्ड’ 2019 प्रदान किया।

टॉप 10 सबसे स्वच्छ शहरों की लिस्ट
  1.  इंदौर, मध्यप्रदेश
  2. अंबिकापुर, छत्तीसगढ़
  3. मैसूर, कर्नाटक
  4. उज्जैन, मध्यप्रदेश
  5. नई दिल्ली
  6. अहमदाबाद, गुजरात
  7. नवी मुंबई, महाराष्ट्र
  8. तिरुपति
  9. राजकोट, गुजरात
  10. देवास, मध्यप्रदेश

सफाई के मामले में टॉप पर रहने वाले 50 शहरों में गुजरात के 12 और मध्य प्रदेश के 11 शहर हैं। वहीं, इस लिस्ट में महाराष्ट्र के तीन और तमिलनाडु के चार शहर हैं। दिल्ली का एनडीएमसी इलाका भी टॉप फिफ्टी में है लेकिन दिल्ली के बाकी तीनों नगर निगम टॉप 50 तो क्या टॉप 100 में भी जगह नहीं बना सके।

उत्तर प्रदेश का बनारस टॉप 50 में शामिल

यूपी का भी महज एक ही शहर वाराणसी ही इस लिस्ट में टॉप फिफ्टी में रहा है। बिहार, राजस्थान और पंजाब का कोई भी शहर इतना साफ नहीं पाया गया कि वह टॉप फिफ्टी में हो। हरियाणा का भी कोई शहर टॉप फिफ्टी में जगह नहीं पा सका है।

सफाई के मामले में सबसे फिसड्डी शहर यूपी का गोंडा

सफाई के मामले में सबसे फिसड्डी शहर यूपी का गोंडा है। 434 शहरों के सर्वे में उसका सबसे आखिरी नंबर है। उससे ऊपर 433 नंबर पर महाराष्ट्र का भुसावल शहर है। उसके बाद बिहार का बगहा, उत्तराखंड का हरदोई, बिहार का कटिहार, यूपी का बहराइच, पंजाब का मुक्तसर, अबोहर, यूपी का शाहजहांपुर और खुर्जा हैं। लिस्ट में सबसे नीचे के 50 शहरों में से 25 अकेले यूपी से हैं जबकि बिहार से नौ, राजस्थान, पंजाब से पांच-पांच शहर हैं।

शहरों को सात वर्गों में दिया गया पुरस्कार
    • सबसे स्वच्छ शहर : इंदौर
    • सबसे स्वच्छ राजधानी : भोपाल
    • सबसे स्वच्छ बड़ा शहर : अहमदाबाद (10 लाख से ज्यादा आबादी वाला)
    • सबसे स्वच्छ मध्यम आबादी वाला शहर : उज्जैन (3 -10 लाख की आबादी)
    • सबसे स्वच्छ छोटा शहर : एनडीएमसी दिल्ली (3 लाख से कम आबादी)
    • सबसे स्वच्छ कैंटोनमेंट : दिल्ली कैंट
  • सबसे स्वच्छ गंगा टाउन : गौचर, उत्तराखंड
4237 शहरों में हुआ सर्वे

इस बार शहरी विकास मंत्रालय ने देश के 4237 शहरों में स्वच्छता सर्वे किया था। इतने शहरों में टॉप-10 शहर का चयन मंत्रालय के लिए भी बड़ी चुनौती रही। सर्वे 5000 अंकों का था जिसमें इंदौर को सबसे ज्यादा 4659 अंक मिले। 31 जनवरी 2019 को सर्वे प्रक्रिया पूरी हुई। इसमें 64 लाख लोगों के फीडबैक लिए गए और सोशल मीडिया के जरिए चार करोड़ लोगों को जोड़ा गया।

Loading...
Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

Leave A Reply