सार्क (SAARC) क्या है? दक्षेस के कितने सदस्य देश हैं…

0 626

सार्क एक संगठन है जो कि दक्षिण एशिया के आठ  देशों से मिलकर बना है । इसका पूरा नाम है दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (South Asian Association for Regional CooperationSAARC) है। इसकी स्थापना 8 दिसंबर 1985 में ढाका, बांग्लादेश में हुई थी । इसका काम आपसी सहयोग से शांति और प्रगति हासिल करना है।


सार्क के सात सदस्य देश हैं – भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल, भूटान और मालदीव।विश्व की कुल आबादी के लगभग 21% लोग सार्क देशों में रहते है । सार्क का मुख्यालय काठमांडू में स्थित है। इसका कुल क्षेत्रफल 5,099,611 वर्ग किलोमीटर है । वर्तमान समय में सार्क के महासचिव अमजद हुसैन बी सियाल है। स्थापना के समय सार्क के सदस्य देश कुल 7 थे जिसमे बांग्लादेश, भूटान, भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका आदि शामिल थे। परन्तु 2007 के शिखर सम्मेलन में अफ़गानिस्तान को भी इसका सदस्य बना लिया गया है जिससे कुल मिलाकर इसकी सदस्य संख्या 8 हो गयी। इसके अलावा इसमें कुछ पर्यवेक्षक देश भी शामिल है जिसमें चीनी जनवादी गणराज्य, यूरोपीय संघ, ईरान, जापान, मॉरीशस, म्यांमार, दक्षिण कोरिया, संयुक्त राज्य आदि है।

सम्मेलन सम्मेलन की तारीख़ जगह
पहला

 

6-8 दिसम्बर 1985 ढाका ,     बांग्लादेश
दूसरा

 

16-17 नवंबर 1986       बेंगलूरू, भारत
तीसरा

 

2-4 नवंबर 1987      काठमांडू, नेपाल
चौथा

 

29-31 दिसम्बर1988 इस्लामाबाद, पाकिस्तान
पाँचवाँ 21-23 नवंबर 1990 माले,  मालदीव

 

छठा

 

 

21 दिसम्बर 1991 श्रीलंका कोलम्बो
सातवाँ 10-11 अप्रैल 1993 ढाका, बांग्लादेश
आठवाँ

 

 

2-4 मई 1995 नई दिल्ली, भारत
नौवां 12-14 मई 1997 माले ,मालदीव
दसवां

 

29-31 जुलाई 1998 कोलम्बो, श्रीलंका
ग्यारवाह

 

4-6 जनवरी 2002 काठमांडू, नेपाल
बारहवा

 

2-6 जनवरी 2004 इस्लामाबाद, पाकिस्तान
तेरहवाँ

 

12-13 नवंबर 2005 ढाका ,बांग्लादेश
चौदहवाँ 3-4 अप्रैल 2007 नई दिल्ली, भारत
पन्द्रहवा 1-3 अगस्त 2008 श्रीलंका ,कोलम्बो
सोलहवाँ

 

28-29 अप्रैल 2010 थिम्फू, भूटान
सत्रहवाँ

 

10-11 नवंबर 2011 अडडू, मालदीव
अठारहवाँ

 

26-27 नवंबर 2014 काठमांडू, नेपाल

 

यहाँ पर 19वें सार्क सम्मेलन का आयोजन 9-10 नवंबर 2016 को पाकिस्तान के इस्लामाबाद में होना था। लेकिन भारत, बांग्लादेश, भूटान और अफ़ग़ानिस्तान ने इस सम्मेलन में हिस्सा नहीं लिया जिस कारण इस सम्मेलन को रद्द कर दिया गया। 20वां सार्क सम्मेलन भी पाकिस्तान में हो सकता है लेकिन इसके भी रद्द होने की बहुत संभावना है, क्योंकि पाकिस्तान ने आतंकवाद को खत्म करने लिए अभी भी जरूरी कदम नहीं उठाए है इसलिए भारत के साथ और भी कई देश इसमें शामिल नहीं होंगे।

 

 

Loading...

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time
Leave A Reply